2023 में निवेश से पहले इन 6 कारकों पर जरूर दें ध्यान, रिटर्न कमाने में होगी आसानी

0
65

नई दिल्ली: बीते कुछ सालों से स्टॉक मार्केट कई सारे कारणों की वजह से प्रभावित हुआ है.आने वाले नए साल 2023 में स्टॉक मार्केट में कौन से कारक को ध्यान में रख कर निवेश करना चाहिए. इस पर जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज में मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार (VK Vijayakumar) 6 कारक को बता रहे हैं.

2023 में अत्यधिक अस्थिरताकुछ घटनाएं जिनको लेकर साल 2023 में भी अनिश्चितता का माहौल रहेगा. वह हैं केंद्रीय बैंकों द्वारा मौद्रिक नीति, सप्लाई शॉक, इन्फ्लेशन, नेचुरल गैस, फूड आइटम, क्रूड ऑयल की कीमतों में बढ़ोतरी, रूस यूक्रेन वॉर. यह सभी चीजें 2023 में विशेष कर साल के शुरुआती महीनों में बाजार के उतार-चढ़ाव की संभावना को बढ़ा सकती है.

ग्लोबल इकोनामिक स्लोडाउन शॉर्ट टर्म के लिए नेगेटिवमाना जा रहा है कि अमेरिका, यूरोप और चीन आने वाले साल 2023 में धीमा पड़ जाएंगे जिस वजह से नए साल की वैश्विक विकास 2022 की तुलना में कम हो जाएगा. ध्यान रहे यह वैश्विक विकास का धीमापन पूरे विश्व के व्यापार को प्रभावित करेगा. अगर भारत के संदर्भ में बात करें तो वित्तीय वर्ष 2023 में भारत की विकास दर 6.8 प्रतिशत से वित्तीय वर्ष 2024 में 6 प्रतिशत होने की संभावना है. जिसका प्रभाव मार्केट पर दिखाई देगा.

मार्केट पर हावी रहेगा US का इन्फ्लेशन और इंटरेस्ट रेटसाल 2023 में स्टॉक मार्केट को अमेरिकी इन्फ्लेशन और बढ़े हुए ब्याज दर प्रभावित कर सकते हैं. दरअसल अमेरिका की फेडरल बैंक ने 2022 में काफी आक्रामक तरीके से ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है. बढ़ोतरी का असर महंगाई दर में कमी आने के संकेत है. इस तरह के संकेत अगर आगे भी जारी रहते हैं तो फेड ब्याज दर बढ़ोतरी पर रुक सकता है. जो मार्केट के लिए अच्छी खबर हो सकती है.

कई तरह के संपति में आवंटन की रणनीतिजिस तरह से विश्व में ब्याज दरों और बांड यील्ड को लेकर माहौल बना हुआ है उसमें निवेशक को अपने आवंटन को लेकर रणनीति बदलनी चाहिए. अर्थात निवेशकों को फिक्स्ड इनकम एसेट की ओर ध्यान देना चाहिए. डेट फंड में निवेश भी अच्छा विकल्प हो सकता है.

गोल्ड में अच्छा रिटर्नसाल 2023 में गोल्ड में निवेश निवेशकों को अच्छे रिटर्न के तौर पर सामने आ सकता है. गोल्ड की प्राइस का मूवमेंट डॉलर से जुड़ा होता है. फेड लगातार अपने इंटरेस्ट रेट को बढ़ा रहा है जिस वजह से कैपिटल फ्लो मार्केट में बढ़ रहा है. जिससे गोल्ड को मजबूती मिल रही है. इस प्रकार गोल्ड 2023 में मल्टी ऐसेट एलोकेशन में महत्वपूर्ण रोल निभा सकता है.

लॉन्ग टर्म के लिए खरीदारी का अवसर2023 में निवेशकों को स्टॉक मार्केट में खरीदारी करने का अवसर मिलेगा. माना जा रहा है कि भारत का मार्केट जो कि फिलहाल ऊंचे वैल्यूएशन पर चल रहा है वैश्विक सुधार होने की वजह से संवेदनशील हो सकता है. जो कि निवेशकों को लॉन्ग टर्म के लिए खरीदारी करने का अवसर देगा.

First published in The Economic Times Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here